UA-110940875-1
NEWSLAMP
Hindi news, हिन्‍दी समाचार, Breaking news, Latest news-NEWSLAMP

बुद्ध ने दुनिया को दिया समरसता का संदेश

बुद्ध जयंती पर भारतीय बौद्ध संघ द्वारा आयोजित सार्वजनिक भोजनदान कार्यक्रम के दौरान बोले प्रमोद कुमार सरोज

प्रयागराज। भगवान बुद्ध भारत में भेदभाव वाली समाजिक अव्‍यवस्था के ख़िलाफ़ आंदोलन खडा करके भारतीय समाज को भाईचारे की राह दिखाई । उनकी जयंती पर सार्वजिनक समरता भोज के रूप में मनाई जा रही है। ये बातें प्रदेश अध्यक्ष प्रमोद कुमार सरोज ने सरदार वल्‍लभभाई पटेल संस्‍थान के सामने आयोजित सार्वजनिक भोजनदान कार्यक्रम के दौरान कही।

- Advertisement -

महामानव भगवानपुर जयंती के शुभ अवसर पर भारतीय बौद्ध संघ एवं डॉ भीमराव अंबेडकर महासभा के सौजन्‍य से सरदार वल्लभभाई पटेल संस्थान चुंगी प्रयागराज के सामने रविवार को सार्वजनिक भोजन दान का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्‍भ महात्मा गौतम बुद्ध के चित्र पर माल्यार्पण कर बुद्ध वन्दना और पंचशील से किया गया। इसके बाद बौद्ध भिक्षु भंते कमल कीर्ति ने सामाजिक एकता का संदेश के विषय पर चर्चा के साथ ही बौद्ध धम्म के संदेशों की जानकारी दी।

प्रदेश मीडिया प्रभारी अजय प्रकाश सरोज ने बताया कि भोजन में पूड़ी, सब्जी,और खीर के साथ ठंठे पानी की व्‍वस्था बड़े पैमाने पर किया गया था। भोजनदान दोपहर से शुरू होकर शाम तक चलता रहा। जिसमे बड़ी संख्या में लोगों ने भोजनदान का लाभ प्राप्त किया।

इस अवसर पर राष्ट्रीय महासचिव रामधर, प्रदेश सचिव एडवोकेट हरीश चंद्र, प्रदेश उपाध्यक्ष रामबली सरोज, जिलाध्यक्ष आरडी सिंह प्रदेश, प्रदेश मीडिया प्रभारी अजय प्रकाश सरोज, राजू पासी, धर्मेंद्र भारतीय, हरीश मौर्य आनंदी लाल, मनोरमा सिंह, कीर्ति सिंह, प्रीति सिंह प्रदेश सचिव नीरज पासी, सुनील कुमार, पवन कुमार करण कुमार, श्रीपाल सिंह के साथ सैकड़ों लोग शामिल रहे ।

कृपया पाठक अपनी पसंद के अनुसार रेटिंग दें।
80%
Awesome
  • Design
  • News
  • content
Subscribe to our newsletter
Sign up here to get the latest news, updates and special offers delivered directly to your inbox.
You can unsubscribe at any time

उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा।

अपनी राय देने के लिए धन्यवाद।

यह वेबसाइट आपके अनुभव को बेहतर बनाने के लिए कुकीज़ का उपयोग करती है। हम मान लेंगे कि आप इसके साथ ठीक हैं, लेकिन यदि आप चाहें तो आप ऑप्ट-आउट कर सकते हैं। स्वीकार आगे पढ़ें