NEWS LAMP
जो बदल से नज़रिया...

तापमान में गिरावट से सूबे में शीतलहर का कहर

तापमान सामान्य से दो से छह डिग्री सेल्सियस लुढक़ा, कोहरे की वजह से दृश्यता भी घटी।

लखनऊ। पहाड़ी क्षेत्रों में हो रही लगातार भारी बर्फवारी का असर उत्तर प्रदेश के कई जनपदों में में दिखने लगा है। न्यूनतम तापमान सामान्य से दो से छह डिग्री सेल्सियस नीचे चला गया है। हालत ये हो गई कि पूरा सूबा ही लगभग शीतलहर की चपेट में है। रविवार को उत्तर प्रदेश का बहराइच न्यूनतम तापमान 3.6 डिग्री सेल्सियस होने के कारण सबसे ठंडा जनपद रहा।

इसे भी पढ़ें- र्ट भी नहीं पूछ सकेगी सीएम योगी की यूपीएसएस फोर्स से सवाल

कड़ाके की ठंड से बचाव के लिए अलाव सेकते लोग।

उत्तर-पश्चिम से चल रही सर्द हवाओं के चलते उत्तर प्रदेश में ठंड काफी बढ़ गई है। अगले एक हफ्ते तक प्रदेश के कई जनपदों में कड़ाके की ठंड पड़ने का अनुमान है। मौसम विभाग के अनुसार पश्चिमी उत्तर प्रदेश और पूर्वी उत्तर प्रदेश के कुछ स्थानों पर पिछले दो दिनों से कड़ाके की ठंड पड़ रही है। घने कोहरे और ठंड की स्थिति पश्चिम और पूर्वी यूपी में देखने को मिली। रविवार को उत्तर प्रदेश का बहराइच जनपद सबसे ठंडा रहा और यहां का न्यूनतम तापमान 3.6 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया। इसके साथ ही राज्य के अलग-अलग स्थानों पर शुष्क मौसम और उथले से मध्यम कोहरे का अनुमान लगाया गया है।

  • तेज हवाओं के कारण और बढ़ेगी ठंड

मौसम वैज्ञानिको के अनुसार मैदानी इलाकों के लिए शीत लहर की घोषणा तब की जाती है जब न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस या इससे नीचे हो और लगातार दो दिन तक सामान्य से 4.5 डिग्री सेल्सियस कम हो। यह स्थिति उत्तर प्रदेश में अभी 24 दिसम्बर तक बनी रहेगी और शीतलहर का क्रम बरकरार रहेगा। हालांकि इसके बाद कुछ सुधार होने की संभावना है पर लोगों को कड़ाके की ठंड से अभी निजात नहीं मिलने वाली है। इसके साथ ही उत्तर प्रदेश के मध्य क्षेत्र को छोडक़र ज्यादातर जनपदों में कोहरे का भी असर देखने को मिल रहा है।

कृपया पाठक अपनी पसंद के अनुसार समाचार को रेटिंग दें।
83%
Awesome
  • News
  • Content
  • Design
Loading spinner
एक टिप्पणी छोड़ें
Subscribe to our newsletter
Sign up here to get the latest news, updates and special offers delivered directly to your inbox.
You can unsubscribe at any time