NEWSLAMP
Hindi news, हिन्‍दी समाचार, Breaking news, Prayagraj news, प्रयागराज समाचार, Allahabad news, न्यूज़लैम्प हिन्दी दैनिक, Newslamp Hindi Daily।

Suvendu Attack On Mamta: ममता पर सुवेंदु का पलटवार- ‘2019 चुनावों में अफसरों पर बनाया था प्रेशर, वोटों की गिनती न होने से हारा था BJP प्रत्‍याशी’

हाइलाइट्स:

  • ममता के खास रहे सुवेंदु अधिकारी ने उन पर लगाए गंभीर आरोप
  • बनर्जी ने कहा कि उन्‍होंने 2019 चुनावों में अफसरों पर बनाया था प्रेशर
  • 16 ईवीएम के वोटों की गिनती ही नहीं की गई, हार गया था BJP प्रत्‍याशी

नंदीग्राम
पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों के दूसरे चरण में नंदीग्राम में बंपर वोटिंग (West Bengal Chunav Polling) हुई। ममता बनर्जी यहां दिनभर वोटिंग बूथों का दौरा करती रहीं जिससे यहां का राजनीतिक पारा चरम पर रहा। इस बीच, नंदीग्राम में ममता को कड़ी चुनौती दे रहे बीजेपी प्रत्‍याशी सुवेंदु अधिकारी ने उन पर गंभीर आरोप लगाए हैं। सुवेंदु ने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनावों में ममता बनर्जी ने डीएम और एसडीओ पर दबाव डाला। आरामबाग में बीजेपी उम्मीदवार 2,500 वोटों से हार गए क्योंकि 16 ईवीएम के वोटों की गिनती ही नहीं की गई। बीजेपी ने झाड़ग्राम और पुरुलिया जिला परिषद जीते थे, लेकिन कमल चुनाव चिह्न को रातोंरात टीएमसी के सिंबल से बदल दिए गए।गौरतलब है कि गत रविवार को ममता ने अपनी एक सभा में सुवेंदु अधिकारी पर 2007 की नंदीग्राम हिंसा में शामिल रहने का आरोप लगाया था। इस हिंसा में 14 लोगों की मौत हुई थी। बनर्जी ने आरोप लगाया था कि सुवेंदु और उनके पिता शिशिर अधिकारी दोनों ने 2007 में नंदीग्राम में पुलिस को प्रवेश करने की अनुमति दी थी। मुख्यमंत्री ने यह भी आरोप लगाया था कि पिता-पुत्र की जोड़ी ने पूर्वी मेदनीपुर जिले में ‘चप्पल पहने पुलिसकर्मियों’ को गांवों में दाखिल होने की अनुमति दी थी। नंदीग्राम में भूमि अधिग्रहण के खिलाफ विरोध कर रहे 14 ग्रामीण 14 मार्च 2007 को पुलिस की गोलीबारी में मारे गए थे। उस समय वाम मोर्चा पश्चिम बंगाल में सत्ता में थी।

नंदीग्राम में दिनभर पोलिंग बूथों का दौरा करती रहीं ममता, अमित शाह- चुनाव आयोग पर भड़कीं, कोर्ट जाने तक की दे डाली धमकी

ममता के आरोपों से सामने आ गया सच: सीपीएम
इन सबके बीच, सीपीएम का पक्ष भी सामने आया है। सीपीएम ने गुरुवार को कहा कि ममता बनर्जी की इस टिप्पणी से पार्टी के रुख की पुष्टि हुई है और ‘घटना के पीछे की असलियत’ सामने आ गई है। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि दक्षिणपंथी आरएसएस से लेकर अति वाम और माओवादियों सभी ने गिरोह बनाया और 2007 में नंदीग्राम में अशांति फैलाने के लिए हथियार लेकर आए। अब हर चीज उजागर हो चुकी है। ममता और अधिकारी परिवार ने इसकी पुष्टि कर दी है।

(भाषा इनपुट के साथ)

ममता पर अधिकारी का पलटवार

उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा।

अपनी राय देने के लिए धन्यवाद।

Subscribe to our newsletter
Sign up here to get the latest news, updates and special offers delivered directly to your inbox.
You can unsubscribe at any time

आपके खबरें पढ़ने के अनुभव बेहतर बनाने के लिए यह वेबसाइट कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करती है। जिससे आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत हैं। स्वीकार आगे पढ़ें